नाट्रेडेम एकेडमी में बनी 808 फिट की ‘राखी’, विश्व रिकॉर्ड बनाने का प्रयास

आजादी के अमृत महोत्‍सव के अवसर पर छात्राओं के द्वारा किया गया अनोखा प्रयास
– राष्‍ट्रीय एकता, विश्‍व बंधुत्‍व, सांप्रदायिक सद्भाव एवं गौरवशाली बिहार को समर्पित
– विशाल राखी की लंबाई 808 फिट और चौड़ाई 60 फिट से अधिक
पटना: नगर के नाट्रेडेम एकेडमी में स्‍वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ पर मनाए जा रहे आजादी के अमृत महोत्‍सव के अवसर अनूठा कीर्तिमान बनाने की पहल की गयी । स्‍कूल की करीब 500 छात्राओं ने मिलकर विश्‍व की सबसे लंबी राखी बनाने का प्रयास किया गया । राखी की लंबाई 808 फिट रही, इसके जरिये राष्‍ट्रीय एकता, विश्‍व बंधुत्‍व, सांप्रदायिक सद्भाव एवं गौरवशाली बिहार का संदेश दिया गया । सबकुछ ठीक रहा तो नाट्रेडेम एकेडमी पटना के नाम विश्‍व की सबसे लंबी राखी का रिकार्ड होगा ।


– पटलिपुत्रा कालोनी पटना स्थित नाट्रेडेम एकेडमी में सोमवार का दिन बहुत खास रहा । सुबह से ही स्‍कूल प्रांगण में उत्‍साह और ‘कुछ बड़ा कर दिखाने का जज्‍बा” खुशूब की तरह तैर रहा था । । स्‍कूल के अभिभावक-शिक्षक संघ (पीटीए) के सहयोग से आयोजित आजादी के अमृत महोत्‍सव कार्यक्रम में विलक्षण और राष्‍ट्रीय स्‍तर पर कुछ अनूठा करने का संकल्‍प लिये कक्षा 8वीं एवं 9वीं की करीब 500 छात्राओं ने 808 फिट से अधिक लंबी राखी का निर्माण किया । राखी के बीच के हिस्‍से की लंबाई चौड़ाई 60 फिट गुना 30 फिट रही। राखी निर्माण कार्य कार्य सोमवार सुबह 6 बजकर 30 मिनट पर शुरू हुआ एवं पांच सौ छात्राओं ने करीब तीन घंटों में यह राखी बनायी। इस तरह 13-15 वर्ष उम्र कटेगरी में स्‍कूली छात्राओं द्वारा विश्‍व का सबसे बड़ा राखी बनाने का प्रयास किया गया ।
रिकार्ड दर्ज करने वाली संस्‍था इंडियन वर्ल्‍ड रिकार्डस एवं लिम्‍का बुक ऑफ रिकार्ड से इस नये रिकार्ड की तैयारी को लेकर पूर्व में संपर्क किया गया था । उनके प्रतिनिधि द्वारा सत्‍यापन के उपरांत सबकुछ ठीक रहा तो रिकार्ड का प्रमाण-पत्र दिया जाएगा ।
इससे पूर्व एनटीआर भवन, बंजारा हिल, हैदराबाद में वर्ष 2019 में 666 फिट लंबी राखी बनी थी। उससे पूर्व ब्रम्‍हाकुमारी द्वारा बुल टैंपल रोड, बैगलुरू में वर्ष 2013 में रक्षाबंधन के अवसर पर 400 फिट लंबी राखी बनायी गयी थी, इसे 150 कलाकरों ने मिलकर बनाया था। दोनों लिम्‍का बुका ऑफ रिकार्ड में दर्ज हैं।
पीटीए के अध्‍यक्ष रतिका अग्रवाल एवं सचिव डा विकास शंकर ने बताया कि इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिये दो सप्‍ताह पूर्व से तैयारी की जा रही थी । छात्राओं को राखी बनाने का विशेष प्रशिक्षण दिया गया था। इसी के अनुसार 8वीं एवं 9वीं की छात्राओं द्वारा कागज, हार्डबोर्ड, नेचुरल सजावटी सामग्री एवं रंग एवं घर में व्‍यर्थ पड़े गौर प्‍लास्टिक सामग्री का उपयोग कर घर और स्‍कूल में राखी बनायी थी ।
प्रिंसिपल नोट्रे डेम अकादमी सीनियर मैरी नेहा ने सभी प्रतिभागियों को बधाई दी और कहा कि इस आयोजन के माध्‍यम से राष्ट्रीय एकता, अखंडता, सद्भाव और भाईचारा का संदेश दिया गया है। पीटीए के अन्‍य सदस्‍यों एवं शिक्षिकाओं ने इस कार्यक्रम को राष्ट्रीय एकता को बढ़ावा देने का मकसद जोड़ा ।
पीटीए अध्‍यक्ष रतिका अग्रवाल ने बताया कि रिकार्ड का निर्धारण करने वालेी एजेंसी इंडियन वर्ल्‍ड रिकार्ड एवं लिम्‍का बुक ऑफ रिकार्ड से पूर्व संवाद किया गया था । कार्यक्रम के पश्‍चात सभी साक्ष्‍य दोनों एजेंसियों को प्रेषित किया गया है। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि सबकुछ ठीक रहा तो नाट्रेडेम एकेडमी को वर्ल्‍ड रिकार्ड का प्रमाण पत्र जल्‍द की प्राप्‍त होगा ।

ये रहे मौजूद
इससे पूर्व स्‍कूल की शिक्षिकाओं एवं पीटीए सदस्‍यों द्वारा मुख्‍य अति‍थि सदस्‍य सचिव बिहार राज्‍य प्रदूषण नियंत्रण पर्षद एस चंद्रशेखर एवं विशिष्‍ट अतिथि आईजीआईएमएस के निदेशक प्रोफेसर डॉ बिभुति प्रसाद सिन्‍हा का स्‍वागत किया गया। दोनों अतिथियों द्वारा राखी की कलाकृतियों का अवालोकन किया गया एवं उनके समक्ष राखी की लंबाई मापी गयी।
इस अवसर पर नेहा रोबर्ट, पामेला एंथोनी, मोना रानी सहित अन्‍य शिक्षिकाएं, पीटीए सदस्‍य संचिता घोष शरण, निशांत अग्रवाल, मनीष अरुणाचलम, सुमन लाल कर्ण, संजीव कुमार, राज रतन, डॉ ऋतू सिंह, सृष्टि रुथ प्रकाश, रेखा कुमारी, सुखमीत सिंह ग्रेसी, रणजीत कुमार, संजीव कुमार आदि उपस्थित रहे।

इस तरह बनी विशाल राखी
राखियों को इस तरह एक आकार एवं डिजाइन में बनाया गया था कि वे एक दूसरे से रिबन द्वारा इंटरलॉक होकर जुड़ सकें । छात्राओं द्वारा राखियों को आपस में जोड़ा गया और मानव-श्रृंखला बनायी गयी। एक दूसरे से जुड़ते हुए बन गयी 808 फिट लंबी राखी । खास बात यह रही कि इसके पूरे लंबाई में प्रयुक्‍त हर पोस्‍टरनुमा राखी खंड पर सांप्रदायिक सौहर्द, आजादी का अमृत महोत्‍सव, भाईचारा, राष्‍ट्रीय एकता एवं अखंडता, पर्यावरण संरक्षण आदि से संबंधित चित्र छात्राओं द्वारा बनाए गए थे। इसका ड्रोन कैमरे से फोटो लिया।

Leave a Comment

28 + = 36