एक लाख से अधिक सफल इलाज होने पर बेगूसराय इंदिरा आईवीएफ ने मनाया समारोह

बेगूसराय : जल और हरियाली है तो ‘जीवन’ है। जल और हरियाली के बिना ‘जीवन’ की कल्पना नहीं की जा सकती। ठीक उसी तरह नि:संतान दंपतियों के जीवन में अगर संतान सुख है तो जीवन में खुशियां अपार है। आज इंदिरा आईवीएफ ने एक लाख सफल इलाज कर नि:संतान दंपतियों के जीवन को खुशियों को हरियाली से भर दिया है। ‘ये बातें इंदिरा आईवीएफ ग्रुप के बिहार हेड डॉ. दयानिधि ने बेगूसराय में सोमवार को हर हर महादेव चौक स्थित इंदिरा आईवीएफ सेंटर पर देशभर में इंदिरा आईवीएफ के एक लाख से अधिक सफल इलाज होने पर आयोजित समारोह में कही। समारोह के बतौर मुख्य अतिथि बेगूसराय जिला आपूर्ति पदाधिकारी सोमनाथ सिंह व रजिस्ट्रार ऋषि कुमार सिन्हा थे।तालियों की गड़गड़ाहट के बीच इंदिरा आईवीएफ की सेंटर हेड डॉ. मिनी कुमारी ने मुख्य अतिथि रजिस्ट्रार ऋषि कुमार सिन्हा व जिला आपूर्ति पदाधिकारी सोमनाथ सिंह का बुके भेंट कर स्वागत किया। इस दौरान समारोह की शोभा उस समय और भी बढ़ गई जब आईवीएफ पद्धति से जन्मे दर्जनों नन्हे-मुन्ने बच्चों और उनके अभिभावकों के बीच मुख्य अतिथि और बिहार हेड ने संयुक्त रूप से पौधा वितरण किया। जहां एक और पौधे लेकर बच्चे खुश हुए वहीं डॉ. दयानिधि ने पौधे का महत्व बताते हुए इसे जीवन के हर पहलू से जोड़ने की अपील की। उन्होंने कहा कि पेड़-पौधे हमारे जीवन और प्रकृति का आधार है। पेड़-पौधे हमारे जीवन में हरियाली लाते हैं। सरकार भी जल जीवन हरियाली कोलेकर कटिबद्ध है। ‌आज इंदिरा आईवीएफ ने एक लाख से अधिक सफल इलाज पूर्ण कर लिए हैं।इसी उपलक्ष्य में इंदिरा आईवीएफ भी पेड़-पौधे लगाने की दिशा में आप लोगों को प्रेरित कर रही है।

समारोह के मुख्य अतिथि रजिस्ट्रार ऋषि कुमार सिन्हा ने कहा कि इंदिरा आईवीएफ आज देश का सबसे बड़ा फर्टिलिटी ग्रुप है। इस पर लोग अधिक भरोसा और विश्वास कर रहे हैं और इसी का परिणाम है कि आज यह फर्टिलिटी ग्रुप पूरे देश में पहले स्थान पर है। वहीं जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने कहा कि आज बदलते परिवेश में नि:संतानता की समस्या बड़ी तेजी से बढ़ रही है। जानकारी के अभाव में बड़ी संख्या में लोग अपना इलाज नहीं करवा पाते हैं। इंदिरा आईवीएफ ने एक बड़ी जिम्मेदारी उठाई है निसंतान दंपतियों को संतान सुख देने की। आज के दौर में आईवीएफ में 70.75 प्रतिशत सफलता दर प्राप्त की जा रहीहै। ग्रुप के सह संस्थापक नीतिज मुडिया ने अपने बधाई संदेश में कहा अत्याधुनिक तकनीको, भरोसेमंद चिकित्सा और आज के दौर में असाधारण सफलता अर्जित की है। इस मौके पर सेंटर पर मुख्य अतिथि सहित पूरी टीम के द्वारा केक काटकर खुशियां मनाई गई।

Leave a Comment

9 + 1 =