बिहार की स्थिति 74 से भी बदतर-गुड्डू बाबा

सार्वजनिक मंच से की अपील- बाल्मीकि नगर से उम्मीदवार बनने के इच्छुक युवा बायोडाटा भेजें

सोशल एक्टिविस्ट विकास चंद्र उर्फ गुड्डू बाबा ने गुरुवार को युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कि बिहार की स्थिति 1974 से भी बदतर है। लोक कल्याणकारी राज्य खतरे में है। लोकतंत्र मुट्ठी भर लोगों के कब्जे में चला गया है। आम लोग लोकतंत्र में अपनी भागीदारी नहीं निभा पा रहा है। लेकिन भूलना नहीं चाहिए कि समय परिवर्तनशील होता है। हम अंग्रेजों से आजादी पा सकते हैं तो लोकतंत्र को आजाद क्यों नहीं करा सकते। उन्होंने कहा कि मध्यमवर्गीय समाज सेतु का काम करता है। क्रांति का नेतृत्व सबसे ज्यादा मध्यम वर्ग के लोगों ने की है। आज संकल्प लें कि जाति-पाति और धर्म का उद्योग चलाने वाले को हम नकारेंगे। हम उपेक्षित लोगों की आवाज बनकर लड़ाई लड़ना चाहते हैं। हम किसी कीमत पर अपनी विचारधारा से समझौता नहीं कर सकते। मेरा मकसद रजनीति करना नहीं है, लेकिन खतरे में पड़े लोकतंत्र को बचाने के लिए मैं बिहार के सामाजिक योद्धाओं का आह्वान कर रहा हूं। ये युवा चुनाव लड़ेंगे। बाल्मिकि नगर कि लोकसभा और विधान सभा की तमाम जनता का हम आह्वान करते हैं कि वे हमारे साथ आएं और भाई-भतीजावाद की राजनीति को छोड़ विकास की राजनीति से जुड़ें। आम तौर पार्टियां सार्वजनिक मंच से उम्मीदवार के लिए बायोडाटा नहीं मांगती है लेकिन गुड्डू बाबा ने सार्वजनिक रुप से युवाओं का आह्वान कर यह बताया कि हम आगे भी इसी अनुशासन और लोकतांत्रिक प्रणाली से बढ़ेंगे ।
गुड्डु बाब ने कहा कि इस क्षेत्र के कोई युवा चुनाव लड़ना चाहते हैं इसके लिए उन्होंने चंपारण की सभी सीटों से युवाओं को चुनाव में उतारने का फैसला किया है जिसके लिए सभी अपना बायोडाटा हमें भेजें। बाल्मीकि नगर की काफी उपेक्षा हुई है इसलिए हम अपनी शुरुआत यहां से कर रहे हैं। बाल्मीकि नगर प्रोजेक्ट की जमीन किस तरह से लूटी गई उससे जुड़े सारे कागजात, सारे साक्ष्य हमारे पास हैं। हम इस क्षेत्र के साथ हुई ज्यादती का गिन-गिन कर हिसाब करेंगे।

व्हाट्सएप नंबर – +918757355503

Leave a Comment

90 − = 85