दिल्ली के द्वारका में केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) के पारिवारिक आवास परिसर का उद्घाटन

केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री श्री नित्यानंद राय ने दिल्ली के द्वारका में केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (CISF) के पारिवारिक आवास परिसर का उद्घाटन किया|

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व और गृह मंत्री श्री अमित शाह जी के मार्गदर्शन में गृह मंत्रालय, सभी केन्द्रीय पुलिस बलों के पारिवारिक आवास और बैरक सहित सभी आवश्यकताओं को प्राथमिकता देता रहा है|

CISF/DMRC दिल्ली के लिए 71 करोड़ रूपये की लागत से 10 भवनों का निर्माण, 104 करोड़ रूपये की लागत से गुरूग्राम में जमीन अधिग्रहण और 261 करोड़ रूपये की लागत से गाजियाबाद में आवासीय/कार्यालय परिसर तथा प्रशिक्षण सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है|

केन्द्रीय पुलिस बल देश की सुरक्षा सुनिश्चित करने और एकता बनाए रखने में उच्च कोटि की भूमिका अदा करते हैं, CISF जैसे बल ’एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ के सपने को साकार करने और ’विविधता में एकता’ के बड़े उदाहरण हैं|

अपने सम्बोधन में केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री ने कहा कि गृह मंत्रालय, केन्द्रीय पुलिस बलों के लिए बहुत सारे कल्याणकारी कार्य कर रहा है और आज का कार्यक्रम भी उसी कड़ी का हिस्सा है। केन्द्रीय औधोगिक सुरक्षा बल सदस्यों के लिए इस पारिवारिक आवासीय परिसर में 768 नये आवासों का निर्माण किया गया है। परिसर में केन्द्रीय पुलिस कल्याण भण्डार, बहु-कौशल केन्द्र, व्यायायाम शाला, शिशु-सदन (क्रेच) और चिकित्सा केन्द्र भी बनाये गए है। श्री राय ने कहा कि इस पारिवारिक आवास केन्द्र के उपलब्ध होने से CISF और दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन (DMRC) बल सदस्य और उनके परिजन आरामदायक तरीके से रह सकेगें और इससे उनका मनोबल और कार्यक्षमता बढ़ाने में भी मदद मिलेगी।

श्री नित्यानंद राय ने कहा कि CISF देश का एक अग्रणी केन्द्रीय पुलिस बल है। यह बल, देश के महत्वपूर्ण औद्योगिक प्रतिष्ठानों, सरकारी भवनों, एयरपोर्ट, बन्दरगाह, परमाणु उर्जा संयत्र, अंतरिक्ष अनुसंधान केन्द्र, एनटीपीसी, बडे़ स्टील सयंत्र, महत्वपूर्ण बांधों और कोयला एवं अन्य खनिज पदार्थ की खदानों के साथ ही महत्वपूर्ण व्यक्तियों की सुरक्षा भी सुनिश्चित कर रहा है। उन्होने कहा कि CISF की बहुमुखी प्रतिभा इससे भी प्रकट होती है कि वह देश के बाहर भी भारत के 10 दूतावासों और मिशन पर सुरक्षा प्रदान कर रहा है। यह बल, संयुक्त राष्ट्र मिशन में लगातार अपना योगदान देता रहा है और उसके कार्यों की सभी ने लगातार सराहना की है।

गृह राज्य मंत्री ने कहा कि CISF की DMRC इकाई, दिल्ली के अतिरिक्त फरीदाबाद, गुरुग्राम, बहादुरगढ़, गाजियाबाद और नोएडा में भी मेट्रो स्टेशनों पर सुरक्षा सुनिश्चित किए हुए है, जिसमें औसतन 35 लाख यात्री प्रतिदिन सफर करते है। CISF के अधिकारी और कर्मियों की मेहनत की बदौलत महिला यात्रियों को विशेषकर एक सुरक्षित वातावरण उपलब्ध होता है।

श्री नित्यानंद राय ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व और गृह मंत्री श्री अमित शाह जी के मार्गदर्शन में गृह मंत्रालय, सभी केन्द्रीय पुलिस बलों के पारिवारिक आवास और बैरक सहित सभी आवश्यकताओं को प्राथमिकता देता रहा है। इस पहल के अंतर्गत दिल्ली मेट्रो में तैनात लगभग 13,000 बल सदस्यों के लिए 22 स्थानों पर बैरक आवास उपलब्ध कराए गए हैं। साथ ही बवाना, नरेला, कोशाम्बी, रोहिणी सेक्टर-34, सिरसपुर और बापरोला में पारिवारिक आवास की सुविधा भी दी गई है। उन्होने कहा कि दिल्ली में 2500 बल सदस्यो के एकल आवास निर्माण का कार्य प्रगति पर है। इन आवासों के उन्नयन/परिवर्तन के लिए गृह मंत्रालय द्वारा 133.08 करोड़ रूपये की राशि प्रदान की गई है।

केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री ने कहा कि CISF/DMRC दिल्ली के लिए 71 करोड़ रूपये की लागत से 10 भवनों का निर्माण, 104 करोड़ रूपये की लागत से गुरूग्राम में जमीन अधिग्रहण और 261 करोड़ रूपये की लागत से गाजियाबाद में आवासीय/कार्यालय परिसर तथा प्रशिक्षण सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। उन्होने कहा कि इन संसाधनों के उपलब्ध हो जाने के बाद हमारे मेहनतकश बल सदस्य उत्साह के साथ अपने कर्तव्य का और अच्छी तरह से निर्वाहन कर सकेगें और उनके परिजन सुखपूर्वक रह सकेगें।

गृह राज्य मंत्री श्री नित्यानंद राय ने कहा कि केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल अपने परिभाषित कर्तव्य के अतिरिक्त अन्य कई प्रकार की गतिविधियों के माध्यम से देश को अपनी सेवा प्रदान कर रहा है। इसी संदर्भ में केऔसुब ने वृक्षारोपण अभियान के तहत इस वर्ष गृह मंत्रालय द्वारा दिये गये 5 लाख वृक्षारोपण के लक्ष्य के विपरीत लगभग 8 लाख वृक्षों का रोपण किया है। केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव के तत्वाधान में आयोजित राष्ट्रव्यापी साईकिल रैली के दौरान बल सदस्यों ने कुल 5466 किलोमीटर दूरी तय करते हुये इसमें महत्वपूर्ण योगदान दिया। कोरोना महामारी के दौरान फ्रन्टलाईन योद्धा के रूप में भी CISF ने अहम भूमिका निभाई ।

 नित्यानंद राय ने कहा कि केन्द्रीय पुलिस बल देश की सुरक्षा सुनिश्चित करने और एकता बनाए रखने में उच्च कोटि की भूमिका अदा करते हैं। CISF जैसे बल ’एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ के सपने को साकार करने और ’विविधता में एकता’ के बड़े उदाहरण हैं। CISF में सभी राज्यों एवं केन्द्र प्रशासित राज्यों का प्रतिनिधित्व है जो जम्मू-कश्मीर से कन्याकुमारी तक और अरब सागर से म्यांमार बॉर्डर तक अलग-अलग स्थानों पर अपनी सेवाएं देकर देश को सुदृढ़ कर रहा है। उन्होने कहा कि इस देश सेवा के दौरान हमारे वीर जवान अपने प्राणों की आहुति देने में भी पीछे नहीं रहते है। बहुत से वीर जवानों ने देश सेवा के दौरान अपने प्राण न्योछावर किए हैं। मैं उन सभी वीर जवानों को श्रृद्धाजंलि अर्पित करते हुए नमन करता हूँ ।

Leave a Comment

7 + 1 =