टीपीएस कॉलेज परिसर में स्वर्गीय ठाकुर प्रसाद सिंह की प्रतिमा का मुख्यमंत्री ने किया अनावरण

6 मार्च 2021 मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार आज टीपीएस कॉलेज में आयोजित प्रतिमा अनावरण उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल हुए मुख्यमंत्री ने टी. पी. एस .कॉलेज परिसर में स्वर्गीय ठाकुर प्रसाद सिंह जी की प्रतिमा अनावरण किया एवं पुष्प अर्पित कर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की. मुख्यमंत्री ने प्रशासनिक भवन के मुख्य दल एनिमल हाउस के दूसरे तल परीक्षा भवन के दूसरे तल मुख्य भवन के तीसरे तल पर वर्ग कक्ष पुस्तकालय भवन के दूसरे तल विज्ञान भवन के दूसरे तल पर वर्ग कक्ष एवं पूर्ण रूप से जीर्णोद्धार किए गए. विज्ञान भवन का सिला पाठ अनावरण कर उद्घाटन किया. मुख्यमंत्री ने कॉलेज के विभिन्न भवनों का निरीक्षण भी किया उन्होंने एडवांस रिसर्च लाइब्रेरी के इक्वेशन एंड एनीमेशन रीडिंग रूम सेल कल्चर लाइब्रेरी एवं इंस्ट्रुमेंटल रूम जाकर विस्तृत जानकारी ली. कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री का स्वागत टीपीएस कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर उपेंद्र प्रसाद सिंह ने शॉल प्रतीक चिन्ह एवं पौधा भेंट कर किया मुख्यमंत्री ने चीन मुजफ्फरपुरी पर उर्दू में लिखी गई पुस्तक एवं आइक्यू ए सी न्यूज़ बुलेट का भी लोकार्पण किया कार्यक्रम की शुरुआत में एनसीसी के कैडेटों ने मुख्यमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर दिया.

इस अवसर पर शिक्षा मंत्री श्री विजय कुमार चौधरी पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर सुरेश प्रताप सिंह पटना विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर गिरीश कुमार चौधरी कॉलेज के प्रधानाचार्य प्रोफेसर उपेंद्र प्रसाद सिंह सहित बड़ी संख्या में शिक्षक छात्र एवं गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे. कार्यक्रम के पश्चात मुख्यमंत्री ने गोपालगंज जहरीली शराब कांड में न्यायालय द्वारा फांसी की सजा दिए जाने से संबंधित पत्रकारों के सवाल के जवाब में कहा कि वर्ष 2016 में जब शराब बंदी लागू की गई थी उसी वर्ष गोपालगंज जिले में यह घटना हुई थी, जहरीली शराब पीने के कारण कई लोगों की मृत्यु हो गई थी उस समय भी हमने लोगों को सचेत करते हुए कहा था कि अगर जहरीली शराब पी जिएगा तो मृत्यु का शिकार हो जाएगा इसलिए कभी किसी की गलत बातों पर भरोसा नहीं कीजिएगा उन्होंने कहा कि गोपालगंज घटना की पूरी तरह से जांच की गई जिसके आधार पर न्यायालय ने दोषियों को सजा दी है यह बड़ी बात है यह समझना चाहिए कि शराबबंदी लोगों के हित में है बिहार की महिलाओं की मांग पर शराबबंदी लागू की गई युवक युवतियों की भी यही इच्छा थी जिस घर में लोग शराब पीते थे उस घर में काफी परेशानी थी इन सब को ध्यान में रखते हुए बिहार में शराबबंदी लागू हुई.शराबबंदी से समाज में स्थिति बेहतर हुई हम लोग जब शराबबंदी को लेकर अभियान चला रहे थे तो उसे दौरान एक महिला ने कहा था कि मेरे पति जब शराब पीते थे शाम में घर आकर झगड़ा करते थे और देखने में क्रूर लगते थे लेकिन जब जब शराब बंदी लागू हुई है. अब शाम को घर आते हैं तो बाजार से सब्जी खरीद कर लाते हैं, मुस्कुराते हैं और अब देखने में भी अच्छे लगते हैं उन्होंने कहा कि कहीं कहीं से अब भी जहरीली शराब पीने की घटना सामने आती है, ऐसे मामलों में पूरी गहराई से जांच कर उस पर कार्यवाही की जाती है. उन्होंने कहा कि हम सब से आग्रह करते हैं कि शराबबंदी को लेकर गंभीर रहे इसमें मेरा कुछ भी व्यक्तिगत लाभ नहीं है बापू भी शराब बंदी के पक्ष में थे. समाज में कुछ न कुछ गड़बड़ करने वाले लोग भी होते हैं 7% आदमी सही नहीं होते शराबबंदी को लेकर लोगों को लगातार अभियान चलाते रहना चाहिए इस पर शवों को नजर रखनी चाहिए. उन्होंने कहा कि ऐसी सजा मिलने से लोगों में डर होता है अगर वह गड़बड़ी करेंगे तो उन्हें भी कड़ी सजा मिलेगी इस तरह की सजा से लोग पर इसका व्यापक असर पड़ेगा शराबबंदी को लेकर हम लगातार समीक्षा करते रहते हैं हमने तय किया है कि प्रतिदिन गृह विभाग डीजीपी एवं मध्य निवेश विभाग के वरीय पदाधिकारी इसकी रिपोर्ट लेंगे और उस आधार पर कार्यवाही करेंगे ऐसा प्रतिदिन किया भी जा रहा है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम युवावस्था में भी टीपीएस कॉलेज को जाते हैं और 41 रूप से आज आने का निमंत्रण मिला तो यहां आकर अच्छा लगा कुछ सरकार के सहयोग से और कुछ लोगों ने अपनी तरफ से टीपीएस कॉलेज में बिल्डिंग बनाई है जीने के नाम से यह कॉलेज बनाया गया है उनकी पत्नी ने इसका निर्माण करवाया था स्वर्गीय ठाकुर प्रसाद सिंह जी की मूर्ति को भी स्थापित किया गया है जिसका आज मुझे अनावरण करने का मौका मिला है उन्होंने कहा कि इन लोगों ने कॉलेज के कई सेक्टरों को दिखाया है जहां कई प्रकार के कार्य और अनुसंधान किए जा रहे हैं यहां 7000 स्टूडेंट पढ़ाई करते हैं यहां पोस्ट ग्रेजुएशन तक के पढ़ाई के साथ ही अनुसंधान भी हो रहा है. मुझे यह सब देख कर अच्छा लगा इस इंजेक्शन को और बेहतर ढंग से चलाने में सरकार की तरफ से अगर कोई और सहयोग की जरूरत होगी तो हम करेंगे, ताकि विद्यार्थियों को कोई परेशानी नहीं हो हम यहां के शिक्षकों विद्यार्थियों रिसर्च चुरु को इस अवसर पर विशेष तौर पर बधाई देते हैं.

मंत्री श्री मुकेश साहनी को लेकर पत्रकारों ने सवाल का जवाब देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कभी-कभी ऐसा होता है कि लोगों को सारी बातों की जानकारी नहीं होती श्री मुकेश साहनी जी ने महसूस किया है, कि उनसे चूक हुई है उन्होंने इसके संबंध में पत्रकारों को सारी बातें बता दी उन्होंने कहा कि पार्टी या परिवार का कोई व्यक्ति सरकारी कार्यक्रम में आप की जगह चला जाए तो यह ठीक नहीं है कोई भी सरकारी कार्यक्रम में जा सकता है देख सकता है लेकिन औपचारिक रूप से इसमें कोई उनकी कोई भूमिका नहीं होनी चाहिए कार्यक्रम में जो भूमिका आपको निभानी है वह कोई दूसरा नहीं निभा सकता यह सारी बातें हो सकती हैं श्री मुकेश साहनी जी ने सारी बातें मान ली है मुझे मालूम नहीं था. विधानसभा में भी मुझे कल एक प्रेस नोट के माध्यम से इसकी जानकारी मिली मुझे इन सब बातों को जानकर आश्चर्य हुआ था. उन्होंने कहा कि श्री मुकेश साहनी ने जानबूझकर कोई गलती नहीं की थी इसको लेकर उन्होंने कोई आईडिया नहीं था,उन्होंने भरोसा दिलाया कि उनसे अब कोई गलती नहीं होगी जिन लोगों ने इस सवाल को उठाया है उसको भी धन्यवाद देते हैं कि अब आज सामने आने से सारी बातों का पता चल गया अब इस बात को आगे बढ़ाने की जरूरत नहीं है श्री मुकेश साहनी जी को खुद इसका एहसास हो गया है अब उनको क्षमा कर देनी चाहिए.

Leave a Comment

57 + = 62