जनभागीदारी नहीं होने से खतरे में गंगा का अस्तित्व

पटना 9 मार्च 2021 अतुल्य गंगा परियोजना के तहत गंगा के शुद्धिकरण को पदयात्रा को निकले रिटायर्ड फौजियों पर्यावरणविद इतिहासकारों का दल मंगलवार को पटना साहिब से दानापुर पटना पहुंचा 6000 किलोमीटर की पदयात्रा पर निकले इन स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का एनसीसी ग्रुप मुख्यालय पटना के ग्रुप महादेश था ब्रिगेडियर ने राणा बिहार वार्डन एनसीसी पटना के कमांडिंग आफिसर कर्नल जे एस अहलूवालिया एवं 29 बिहार बटालियन एनसीसी पटना के एडिशनल एसपी सिन्हा एवं दानापुर कैंट के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने तथा के द्वारा दानापुर कैंटट पटना में भव्य स्वागत किया गया अतुल्य गंगा योजना के तहत भूतपूर्व सैनिकों की यात्रा 15 अगस्त 2021 को करीब 6000 किलोमीटर तय कर विराम लेगी अतुल्य गंगा परिक्रमा पटना साहिब से आज 9 मार्च 2021 को सुबह 5:30 बजे रवाना हुई तथा अपना पहला पड़ाव ऐतिहासिक गांधी मैदान पटना में तकरीबन 8:00 बजे के लिए पटना साहिब से अतुल्य गंगा परियोजना के अंतर्गत चलने वालों में वीरेन भाई पटेल कर्नल हेमू में कर्नल आर पी पांडे रोहित उमराव रोहित जाट जनरल बृजेश कुमार शगुन तथा कृति के साथ-साथ हजारों स्थानीय नागरिक थे अतुल गंगा परियोजना के जंगल बृजेश कुमार ने कहा कि पाटलिपुत्र का अपना ऐतिहासिक महत्व है या मगध की राजधानी रही है हम पटना तीन तरफ से नदियों से गिरी है पटना के पश्चिम दक्षिण में सोना कर मनेर पटना में गंगा में आकर मिलती है तथा उत्तर में गंडक नदी आकर गंगा में मिलती है और दक्षिण से पुनपुन नदी आकर गंगा से करीब 20 किलोमीटर दूर फतुहा में मिलती है इस तरह से देखा जाए तो पटना संगम पर बसा एक प्राचीन शहर है जहां से एक समय संपूर्ण भारतवर्ष का शासन प्रशासन का संचालन एवं नागरिकों को दिशा निर्देश प्राप्त होता था अगर गंगा को स्वच्छ रखना है तो हमें पटना शहर को भी साफ सुथरा रखना होगा और हमारी कोशिश होनी चाहिए कि शहर का गंदा पानी गंगा में नहीं बढ़ाया जाए गंगा सफाई में अपनी भागीदारी देते हुए एनसीसी के कैंडिडेट प्रातः 6:00 बजे दानापुर में गंगा स्वच्छता अभियान के तहत जुड़े एनसीसी कैडेट ने संबोधित कोविड-19 विदा के नियमों का पालन करते हुए हाथ के दस्ताने फेसवास तथा पर्यावरण के अनुकूल स्थलों का प्रयोग करते हुए दानापुर गंगा तट से प्लास्टिक तथा अन्य पर्यावरण को दूषित करने वाले वस्तुओं को साफ सफाई किया

Leave a Comment

+ 44 = 51