झाझा बनेगा अनुमंडल : तेजस्वी यादव

झाझा जमुई। बिहार में बेरोजगारी चरम पर है। नीतीश कुमार के 15 साल के शासनकाल में किसी नौजवान को रोजगार नहीं मिला। पलायन जोरों पर है तो महंगाई चरम पर है। कोरोना काल में जब मजदूर घर आना चाहे तो नीतीश कुमार ने लाने से इन्कार करते हुए कहा कि जो जहां है वहीं पर रहे। जो मजदूर को घर लाने से कतराते रहे, अगर वे सत्ता में आ गए तो पांच साल कुछ नहीं करेंगे। बिहार और पीछे चला जाएगा। जात-पात धर्म से उपर उठकर बिहार के लिए काम करेंगे। उक्त बातें शनिवार को शहर के एमजीएस उच्च विद्यालय के मैदान में महागठबंधन के नेता सह पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने राजद प्रत्याशी राजेन्द्र यादव के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कही।
महागठबंधन की सरकार बनते ही पहले केबिनेट में सूबे के 10 लाख युवाओं को रोजगार दिया जायेगा। बिहार में कारखाना लगाया जाएगा। नीतीश कुमार ने सूबे में उद्योग लगाने में अक्षम होने की बात कही। फैक्ट्री नहीं लगने के पीछे बिहार में समुद्र नहीं रहने की बात कही गई। नियोजित शिक्षकों को समान काम समान वेतन देने की बात कही। साथ ही आंगनबाड़ी सेविका एवं सहायिका, आशा, स्वयं सहायता समूह, विकास मित्र, रसोईया आदि को स्थायीकरण करते हुए मानदेय में बढ़ोतरी की जायेगी। तेजस्वी ने शराब बंदी पर तंज कसते हुए कहा कि सरकार कहती है कि शराब बंद है लेकिन घर-घर में होम डिलीवरी हो रहा है। सूबे के एक ही जिला को नौकरी में प्राथमिकता मिल रही है। ऐसी स्थिति में पूरे बिहार का विकास कैसे संभव है। मौके पर कांग्रेस नेता धर्मदेव यादव, राजद नेता श्रीकांत यादव, पूर्व नगर अध्यक्ष संजय कुमार सिन्हा, कामदेव यादव, गौरव सिंह राठौर,विनोद यादव फुटल कपार राशिद अहमद सहित कार्यकर्ता उपस्थित थे

Report by: Dilipkr.

Leave a Comment

6 + 1 =