पटना में जलजमाव के बाद नगर निगम ने की बैठक

शनिवार को घंटेभर की बारिश से पटना के कई इलाकों में जाम की स्थिति उत्पन्न हो गयी। गांधी मैदान, बिस्कोमान भवन, मौर्या होटल, मगध महिला कॉलेज, डाकबंगला, फ्रेजर रोड, अशोक राजपथ सहित कई इलाकों में जलजमाव से लोग परेशान दिखे। पटना नगर निगम की आज पोल खुल गयी। पटना नगर निगम के अधिकारियों ने दावा किया था कि इस बार जलजमाव नहीं होने देंगे। लेकिन मानसून की दूसरी बारिश में ही उनके दावों की पोल खुल गयी। पटना में जलजमाव और बारिश को लेकर जारी अलर्ट के बाद पटना नगर नगर निगम के अधिकारियों ने बैठक की और आवश्यक निर्देश दिये। यह निर्देश दिया गया कि बारिश के अलर्ट को देखते हुए तीन दिनों तक दिन-रात निगम कर्मी वार्ड में ही रहेंगे। इसे लेकर कंट्रोल रूम बनाया गया है। कंट्रोल रूम में रातभर पदाधिकारी और कर्मचारी तैनात रहेंगे। पटना में कही भी जलजमाव की स्थिति बनेगी फील्ड के अधिकारी और कर्मचारी को इसकी सूचना दी जाएगी। सूचना मिलते ही जलनिकासी की व्यवस्था की जाएगी।

भारत ने साउथ अफ्रीका को 7 रन से हराया,भारत बना विश्वविजेता

मौसम विभाग ने तेज आंधी-बारिश को लेकर अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अलर्ट के बाद पटना नगर निगम ने सभी वार्डों में पदाधिकारी एवं कर्मियों की तैनाती की है। जो दिन-रात अपने वार्ड में ही रहेंगे। देर रात भी यदि बारिश होती है तब जलजमाव की स्थिति उत्पन्न ना हो सके। इसके साथ ही कंट्रोल रूम में भी कर्मियों के साथ-साथ पदाधिकारी की तैनाती रात्रि पाली में की गयी है। शनिवार को नगर आयुक्त और बुडको के एमडी के साथ बैठक हुई और सभी अंचल कर्मियों को विशेष दिशा निर्देश दिये गए। तीन पाली में तैनात पदाधिकारी निगरानी करेंगे। बारिश होने के साथ ही रात में भी फिल्ड में कार्यपालक पदाधिकारी निकलेंगे। वॉकी टॉकी से लगातार वाटर लेवल की जानकारी कर्मी देंगे। संप को डबल फीडर से संचालित किया जाएगा। फोर्स फ्लो एवं ग्रेविटी फ्लो के तहत एरिया बांट कर कार्यपालक पदाधिकारी को जल निकासी सुनिश्चित कराने को कहा गया है। इस दौरान नगर निगम के सभी 6 अंचल के कार्यपालक पदाधिकारी एवं अभियंता के साथ बुडको के पदाधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Comment

45 − = 41