कंकड़बाग में हुआ नव्या आईवीएफ एंड फर्टिलिटी सेंटर का उद्घाटन

शादी के कुछ दिनों के बाद हर दंपति की चाहत नन्ने मुन्ने बच्चों की होती है पर आज की तनावपूर्ण जिंदगी में , ऐसे वैवाहिक जोड़ो की संख्या काफी तेज़ी से बढ़ रही है, जिनकी अपनी कोई संतान नहीं है।
उनके लिए यह काफी दुखद होता है और आगे जाकर है तनाव का कारण भी बनता है।
इसे दूर करने के लिए वे दवाई लेना, व्रत करना, बाबओं के पास जाना इत्यादि को अपनाने लगते हैं पर यह सब तरीका भी लाभकारी नहीं होता। ऐसी
स्थिति में, उनके लिए IVF काफी मददगार साबित होता है। पटना में नव्या आईवीएफ के सेंटर के खुल जाने से बिहार के निसंतान दंपति अब निराश नहीं होंगे। उनके आंगन में किलकारियां गूंजेगी। यह बातें कंकड़बाग के पी सी कॉलोनी में आज आयोजित नव्या आईवीएफ एंड फर्टिलिटी सेंटर के उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर बोलते हुए . प्रख्यात ऑर्थोपेडिक सर्जन डॉक्टर एनके सिंह ने कहीं।उन्होंने पटना में सेंटर खोलने के लिए इसके निदेशक डॉक्टर नेहा को धन्यवाद देते हुए उनके पहल की सराहना की।
वही, इस कार्यक्रम में सम्मानित अतिथि के तौर पर बोलते हुए बिहार के जाने-माने स्पाइन सर्जन डॉ गौतम आर प्रसाद ने आईवीएफ के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि आईवीएफ का पूरा नाम इन-विट्रो-फर्टिलाइजेशन है, जिसमें पुरूष के शुक्राणु और महिला के अंडाणु को में मिलाकर उसे ऐसी महिला के गर्भाशय में डाला जाता है,जो मां बनना चाहती हैं।
उन्होंने आगे कहा कि सामान्यता लोगों में भ्रम होता है आई वीएफ कभी खर्चीला होगा पर ऐसी बात नहीं है। सेंटर में काफी कम खर्चे में ही अंतरराष्ट्रीय स्तर की व्यवस्था मिलेगी।, वही सेंटर के निदेशक डॉक्टर नेहा ने कहा
कि हमारा प्रयास निसंतान दंपति की कोख में उम्मीदों की किलकारी भरना है. यहां अत्याधुनिक तकनीकी सुविधा उपलब्ध है साथ ही हमारे सभी कर्मी व्यवहार कुशल है। सेंटर में शुल्क भी सामान्य लोगों के जेब अनुरूप रखा गया है।
उद्घाटन समारोह में बिहार के जाने-माने चिकित्सक के साथ राजधानी के गणमान्य लोगों की उपस्थिति रही। मुख्य अतिथि द्वारा फीता काटकर इस आईवीएफ सेंटर का उद्घाटन किया गया

 

Leave a Comment

45 − 43 =