पालीगंज में चार गांवों की मतदाताओं ने लिया बड़ा फैसला,रोड नही तो वोट नही के तौर पर मतदान का करेंगे बहिष्कार

पालीगंज रविवार को पालीगंज प्रखण्ड के बहेरिया निरखपुर गांव स्थित शिव मंदिर परिसर में महेशपुर, छोटकी निरखपुर,बड़की निरखपुर व सिद्धिपूर गांव के हजारों ग्रामीण मतदाताओं ने बैठक कर पालीगंज से निरखपुर-गौसगंज होते किंजर के पास अरवल जहानाबाद मुख्य सड़क तक सड़क निर्माण की मांग को लेकर वोट बहिष्कार करने का निर्णय लिया है।

जानकारी के अनुसार रविवार को पालीगंज प्रखण्ड के बहेरिया निरखपुर गांव स्थित शिवमंदिर परिसर में आयोजित बैठक की अध्यक्षता सिद्धिपूर गांव निवासी अनुराग शर्मा ने किया।बैठक में छोटकी निरखपुर,बड़ी निरखपुर, सिद्धिपूर व महेशपुर गांव के ग्रामीण मतदाताओं ने भाग लिया।बैठक में सड़क निर्माण की मांग को लेकर चर्चा किया गया।ग्रामीणों को कहना था कि आजादी के पूर्व से यह सड़क की अपनी निजी जमीन होते हुए भी यह सड़क सरकार की उपेछा का शिकार रहा है।जहां सड़को की जमीन नही थी वहां सड़क बना दिया गया लेकिन इस पर आज तक किसी ने ध्यान नही दिया।मौके पर मौजूद सभी ग्रामीणों ने बताया कि स्वतंत्रता के बाद से यहां की जनता स्थानीय नेताओ से सड़क के लिए गुहार लगाया लेकिन किसी ने इस ओर ध्यान नही दिया। बैठक के दौरान इन चार गांवों के ग्रामीणों ने निर्णय लिया कि यदि इस सड़क का निर्माण नही कराया गया तो हम सभी ग्रामीण मतदाता “रोड नही तो वोट नही” के तर्ज पर आगामी बिधान सभा से लेकर लोक सभा चुनाव में भी मतदान का बहिष्कार करेंगे।इस दौरान नाराज ग्रामीणों ने नारेवाजी करते हुए प्रदर्शन किए।

पालीगंज मे वोट बहिष्कार के निर्णय के बाद प्रदर्शन करते ग्रामीण मतदाता

इस मामले में पालीगंज एसडीओ मुकेश कुमार ने बताया कि ग्रामीण मतदाताओं द्वारा सड़क निर्माण की मांग को लेकर वोट बहिष्कार करने की जानकारी मिली है।फिलहाल ग्रामीणों को समझाने के लिए सम्बन्धित सेक्टर के पदाधिकारी जैसे बीडीओ व प्रशासन को भेजा हूँ।यदि उनकी बात ग्रामीण नही मानते है तो मैं खुद भी ग्रामीणों को समझाने जाऊंगा।वही एसडीओ ने बताया कि सड़क निर्माण में मेरी ओर से जो भी सम्भव होगी ग्रामीणों को मदद करूंगा।

ज्ञात हो कि यह सड़क का इतिहास फुट पुराना है। इसी सड़क से होकर पूर्व में लोग व ब्यापारी सोनपुर के बाद बिहार का सबसे बड़ा पशु मेला समदा गांव में कई राज्यो से आते थे।इस सड़क के निर्माण से निरखपुर, सिद्धिपूर,रघुनाथपुर,मेरा, महेशपुर,दहिया,बसन्त बिगहा,समदा,महुआरी, गौसगंज,कौरी,काढ़ेकुड़ा, हेलहा व रूपापुर सहित दर्जनों गांव जुड़ेगी।जिससे यातायात के अलावे ग्रामीण इलाकों के लोगो को रोजगार मिलेगी।

Repoter by:Ratnesh kr.

Leave a Comment

76 + = 84