लॉक डाउन की पाबंदी हटते ही बीसीए युद्ध स्तर पर करा सकता है अपने घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंटों का आयोजन।

पटना, आज दिनांक 22 मई 2020 को बीसीए मीडिया कमेटी के संयोजक कृष्णा पटेल एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि आज पूरा देश विगत 3 महीनों से कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी की मार झेल रही है और पूरा जन -जीवन अस्त व्यस्त है।
इस जानलेवा बीमारी की दवा बनाने में आज पूरी दुनिया एड़ी-चोटी लगाई हुई है।
लेकिन अभी तक इस बीमारी का कोई सटीक दवा या वैक्सीन नहीं बन सका है। इस बीमारी का एकमात्र इलाज सोशल या फिजिकल डिस्टेंसिंग हीं है। जिसको लेकर देश के प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र मोदी जी ने पूरे देश भर में लॉक डाउन -4 लागू कर चुके हैं जो 31 मई तक आदेशित है।
जिसमें अलग-अलग सामाजिक कार्य क्षेत्रों व खेलकूद गतिविधियों से भी कुछ पाबंदियां हटाई गई है।
इसके लिए मैं समस्त खिलाड़ियों, पदाधिकारियों व खेल प्रेमियों की ओर से भारत सरकार के प्रति कोटि-कोटि आभार प्रकट करता हूं।
लेकिन शर्त यह है कि इन सभी गतिविधियों में सोशल या फिजिकल डिस्टेंसिंग का पूरा- पूरा ख्याल रखा जाय।
जिसको लेकर बीसीसीआई अपने सभी घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट के आयोजन को लेकर कार्य योजना का मास्टर प्लान निश्चित रूप से तैयार कर रही होगी।
जिसको ध्यान में रखते हुए बीसीए भी अपने सभी घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंटों का आयोजन कराने के लिए अपना मास्टर प्लान तैयार कर रही है।
जो भारत सरकार व राज्य सरकार द्वारा लॉक डाउन- 4 की समाप्ति के बाद जारी अधिसूचना में अगर खेलकूद गतिविधियों के आयोजन के लिए हरी-झंडी दी गई तो- बीसीसीआई की गाइडलाइन को पालन करते हुए।
बीसीए युद्ध स्तर पर अपने सभी घरेलू टूर्नामेंटों का सफल आयोजन कराने के लिए कमर कस चुकी है।
जो बिहार के प्रतिभावान खिलाड़ियों के लिए इस विषम परिस्थिति में एक सुखद खबर है। क्योंकि खिलाड़ियों के लिए एक वर्ष का खेल सत्र क्या मायने रखता है यह उनसे बेहतर कौन जान सकता है।
इनके उज्जवल भविष्य का ख्याल रखते हुए।
बीसीए कम समय में भी सभी आयु वर्गो के घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंटों का आयोजन कराने के लिए कृत संकल्पित है । जिसका मूल उद्देश प्रतिभावान खिलाड़ियों को अपने-अपने प्रतिभा का जौहर दिखाने का पूरा अवसर प्रदान करना है। ताकि उदयमान खिलाड़ियों का सपना साकार हो सके।
कृष्णा पटेल ने कहा कि खिलाड़ियों को पूरी लगन और जोश के साथ इस लॉक डाउन में भी अपने- आपको फिट रखने की आवश्यकता है। खिलाड़ी अपने घर के छत पर ही नित्य दिन फिजिकल फिटनेस बरकरार रखने के लिए आवश्यक सभी प्रकार के कसरत और योगाभ्यास निरंतर करते रहें साथ ही साथ यथासंभव क्रिकेट से जुड़ी बारीकियों का भी निरंतर अभ्यास करते रहें और मानसिक रूप से मजबूत रहें।
उम्मीद है कि लॉक डाउन की पाबंदी हटते हीं बीसीए अपने घरेलू टूर्नामेंट का आयोजन कराने की तिथि जारी कर देगी।

Leave a Comment

88 − 82 =