दीघा की सीट माले को देने से नाराज पप्पू राय ने दिखाया दमखम

महागठबंधन में राजद द्वारा कई क्षेत्र माले के कोटे में दिए गए जैसे फुलवारी का क्षेत्र दीघा का क्षेत्र इससे राजद कार्यकर्ताओं में आक्रोश है क्योंकि फुलवारी से श्याम रजक जी आते हैं जो एक सुरक्षित सीट माना जाता है फिर भी उन्हें अलग किया गया और यह क्षेत्र माले को दे दिया गया इसी तरह की घटना दीघा छेत्र में भी हुई पहले राजद के ही पप्पू राय को सीट मिलने का आश्वासन हुआ पप्पू राय अपनी तैयारी में लग गए लेकिन चुनाव के ऐन वक्त पर यह क्षेत्र माले के कोटे में दे दिया जाए इससे नाराज पप्पू राय ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके अपना दमखम दिखाया अपने जनाधार की बात की दीघा क्षेत्र के लोगों के द्वारा जो प्यार और आशीर्वाद मिल रहा था राजद ने उसकी अनदेखी की यह आरोप लगाया जानिए उन्होंने अपने शब्दों में क्या कहा:-

आज आप लोग मीडिया कर्मियों को बुलाने के पीछे जो मेरा भावना है वह बहुत दुख के साथ आपको व्यक्त कर रहे हैं बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर दीघा विधानसभा क्षेत्र से मुझे राजद द्वारा टिकट देने की बात कही गई थी आपको बता देते हैं कि राजद के गठन के समय से मैं लगातार एक सक्रिय कार्यकर्ता के तौर पर कार्य करता रहा हूँ आज तक राजद को अपना सब कुछ मानकर कार्य किया हूं और साथ चलता रहा हूं परंतु इस उम्मीद के साथ में यह कार्य कर रहा था कि एक समय ऐसा आएगा कि मैं भी समाज सेवा कर पाऊंगा और जनता के बीच जाकर उनका दुख-दर्द को बांट सकूंगा और मुझे राजद के सुप्रीमो द्वारा टिकट का आश्वासन दिया गया था कि इस बार के चुनाव में तुम्हें दीघा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ना है और मैं इसके लिए सारी तैयारी भी कर चुका था पर अचानक क्षेत्र के माले को दे दिया गया जिस कारण से मेरा टिकट कट गया जबकि मैं तैयार था मैं माले को समर्थन भी देता परंतु माले ने जिसको टिकट दिया गया है लोकल नहीं है बाहर से आए हुए प्रत्याशी हैं जिनको दीघा विधानसभा क्षेत्र का कोई ज्ञान नहीं है उनको कोई रोड की जानकारी नही है यहां के रास्तों की जानकारी नही है काफी सोच-विचार के बाद और विधानसभा क्षेत्र की जनता और हमारे कार्यकर्ता और हमारे बुजुर्गों द्वारा कहा गया कि इस बार आप चुनाव लड़े तो बहुत सोचने के बाद मैंने यह तय किया कि मुझे राजद ने टिकट नहीं दिया जिसका तकलीफ है तो मैं निर्दलीय चुनाव लड़ने के लिए तैयार हुआ हूं मैं आपको बता दूं कई जमीनी मुद्दा है जीन सारी चीजों को लेकर निर्दलीय ही जनता के बीच जाऊंगा और अपनी बातों को जनता को बताऊंगा हम आज निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर वादा करते हैं कि जो भी दीघा विधानसभा का मुद्दा होगा उसको हम पूरा करने के लिए जी जान लगा देंगे और आपको बता देते हैं हमारे क्षेत्र में कानून का भी राज होगा मेरे क्षेत्र में और स्वास्थ्य शिक्षा इन सभी मुद्दों पर हम काम करेंगे जिससे हमारे क्षेत्र के लोग सुख चैन से रह सकेंगे इसके लिए मुझे जो भी करना पड़ेगा मैं वह करने के लिए तैयार हूं हम आपको बुलाए इसी कारण है कि आज हमने सारे मीडिया बंधुओं को इसी बात का घोषणा करने के लिए बुलाया है कि हम निर्दलीय दीघा विधानसभा से चुनाव लड़ने जा रहे हैं और जो भी उस विधानसभा क्षेत्र में हमको करना होगा जनता के हित में जनता के साथ में उसको करने के लिए मैं अपनी जान भी लगा दूंगा मैं और मेरी पत्नी सुनीता देवी लगातार दीघा विधानसभा क्षेत्रों में जनता के बीच जाकर करोना काल हो या कोई भी समस्या हो जनता के बीच लगातार उस को हल करने में मौजूद रहते हैं और दीघा के लोगो का भी कहना है कि इस बार दीघा विधानसभा क्षेत्र में इस बार सुनीता देवी अपने प्रत्याशी के रूप में सामने आएंगे और दीघा विधानसभा की जनता की सेवा करेंगे

Leave a Comment

71 − = 65