प्राथमिक शिक्षक राजीव रंजन की आकस्मिक निधन

पटना : प्राथमिक शिक्षक सुगरमोरवा पूर्वी मनेर पंचायत में 16 जुलाई 2014 से बिहार शिक्षा सेवा में राजीव रंजन पदस्थापित थे| घर और मोहल्ले में “राजू भैया” के नाम से पुकारे जाने वाले 46 वर्षीय राजीव रंजन किडनी रोग से ग्रसित थे| विगत दिनों पटना के महावीर आरोग्य संस्थान कंकड़बाग में अपनी बिमारी से लड़ते-लड़ते वह दुनिया से चले गए | उनके आकस्मिक निधन से शिक्षा जगत शोक में डूब गया|

राजीव रंजन के अंतिम संस्कार गुलबी घाट पर किया गया, मुखाग्नि उनके बड़े पुत्र शास्वत मिश्रा (पीयूष) ने दी | राजीव रंजन अपने पीछे 2 पुत्र पीयूष, आयुष और पत्नी अर्चना को छोड़ गए | राजीव रंजन के निधन पर स्कूल के प्रभारी गजेंद्र कुमार, शिक्षक अनीश कुमार ,शिक्षिका सुनीता कुमारी ने शोक संवेदना व्यक्त की|

राजीव रंजन की स्मृति में बिहार प्राथमिक शिक्षक संघ व बिहार शारीरिक शिक्षक संघ (प्रकोष्ठ) के बैनर तले 2 मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई|

 शारीरिक शिक्षक व सचिव बिहार राज बाल बैडमिंटन गौरी शंकर (महंत हनुमान शरण उच्च विद्यालय मैनपुरा) ने भी शोक व्यक्त किया| स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने और बिहार शिक्षक संघ संयुक्त रूप से राजीव रंजन को काफी सहायता की थी| लेकिन नियति को, कुछ और ही मंजूर था एक कर्मठ टीचर जो दूसरों के बच्चों के भविष्य को बनाता है आज अपने ही बच्चों के भविष्य को अंधेरे में छोड़ गया |

इसे भी पढ़े –खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने टोक्यो पैरालंपिक पदक विजेताओं को सम्मानित किया

Leave a Comment

79 + = 87