149 औद्योगिक प्रशिक्षण केंद्रों को टाटा टेक्नोलॉजी बनाएगी सेंटर ऑफ एक्सीलेंस

पटना 18 फरवरी 2021 मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार के समक्ष एक अणे मार्ग स्थित संकल्प में श्रम संसाधन विभाग ने प्रस्तुतीकरण दिया जिसमें राज्य के सभी 149 आईटीआई में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस स्थापित करने हेतु विस्तृत जानकारी दी गई है श्रम संसाधन विभाग के प्रधान सचिव श्री मिहिर कुमार सिंह टाटा टेक्नोलॉजी के उपाध्यक्ष श्री सुशील कुमार एवं ग्लोबल एजुकेशन निर्देशक श्री पुष्कर राज कॉल गुड ने प्रस्तुतीकरण में बताया कि बिहार के सभी 149 आईटीआई में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाया जाएगा इसके प्रथम चरण में 60 आईटीआई को चयनित किया गया है सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाए जाने के साथ ही एडवांस टेक्नोलॉजी में मशीन लर्निंग इंटरनेट ऑफ थिंग्स ग्राफिक डिजाइन रोबोटिक मेंटेनेंस इलेक्ट्रिकल इत्यादि की तकनीको में मशीनें लगाकर इंडस्ट्री के सहयोग से राज्य के आईटीआई को और उन्नत बनाया जाएगा

बैठक में मुख्यमंत्री ने निर्देश देते हुए कहा कि सभी आईटीआई संस्थानों में ऑनलाइन ट्रेनिंग के साथ-साथ फिजिकल ट्रेनिंग भी कराई जाए जिन आईटीआई भवनों का निर्माण अभी पूर्ण नहीं हुआ है उन्हें जल्द पूर्ण करें और उनमें संस्थान को सेट करें जरूरत के मुताबिक तारों की संख्या भी बढ़ाई उन्होंने कहा कि नई टेक्नोलॉजी सीखने से छात्रों को बेहतर रोजगार मिल सकेगा साथ ही उद्योग क्षेत्र का विकास होगा माननीय मंत्री श्रम संसाधन विभाग श्री जीवेश कुमार ने बैठक में बताया कि सरकार इंडस्ट्री 4.0 के तहत प्रथम चरण में राज्य के साथ आईटीआई को उन्नत बनाने का कार्य मार्च 2022 तक पूरा कर लेगी प्रत्येक वर्ष इसमें 15000 बच्चों को प्रशिक्षण दिया जा सकेगा प्रदेश के युवा अपने कौशल का विकास कर अपने लिए रोजगार और स्वरोजगार देश और विदेश में आसानी से प्राप्त कर सकेंगे इसे ध्यान में रखते हुए प्रदेश के युवाओं को विश्वस्तरीय सुविधाएं दिए जाने हेतु कौशल विकास केंद्रों का आधुनिकीकरण किया जा रहा है बैठक में श्रम संसाधन विभाग के प्रधान सचिव श्री मिहिर कुमार सिंह ने बताया कि बिहार के आईटीआई को उद्योगों के बदले परिवेश को देखते हुए नई तकनीकों से लैस किया जाएगा ताकि बिहार के युवा तकनीकी प्रशिक्षण के बाद सीधे उद्योगों की आवश्यकताओं को पूरा कर सकें योजना के तहत प्रथम चरण में बिहार सरकार के साथ आईटीआई पर कुल 2188 करोड रुपए की राशि व्यय की जाएगी जिसमें से 88% राशि टाटा टेक्नोलॉजी के द्वारा जबकि बिहार सरकार द्वारा शेष 12% राशि व्यय की जाएगी प्रत्येक आईटीआई में 1000 स्क्वायर फीट जगह भी उपलब्ध कराई जाएगी प्रत्येक आईटीआई में 36.48 करोड रुपए के औसतन व्यय से उन्हें सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाया जाएगा इसे हब एंड स्पोक मॉडल के आधार पर स्थापित किया जाएगा और इन 7 क्षेत्रों 1इलेक्ट्रॉनिक वाहन प्रशिक्षण ,आई गोट और डिजिटल इंस्ट्रूमेंटेशन, मशीनिंग और विनिर्माण एडवाइजर,आर्क वेल्डिंग के साथ औद्योगिक रोबोटिक्स आई थी और डिजाइन सभी प्रकार की मरम्मत और रखरखाव आधुनिक पब्लिक में कार्य किया जाएगा इसके अंतर्गत सैंपल जॉब रोल पर ट्रेनिंग भी दी जाएगी जिसमें इलेक्ट्रिक वाहन प्रशिक्षण के अंतर्गत वाहन सर्विसिंग बैटरी रखरखाव मोटर मरम्मत एवं उसकी पूरी देखभाल आईओटी और डिजिटल इंस्ट्रूमेंटेशन के अंतर्गत होम ऑटोमेशन रिमोट ऑपरेटर मशीन ट्रैकिंग और डॉयलॉजिस्ट मशीन और विनिर्माण एडवर्टाइज के अंतर्गत एडवांस मशीन ऑपरेटर एडवांस मशीन प्रोग्रामिंग और एडवांस मशीन रखरखाव आफ बिल्डिंग के साथ औद्योगिक रोबोट के अंतर्गत रोबोट इंस्टालेशन पिक्चर ट्रेनिंग मैटेरियल हैंडलिंग रोबोट मेंटेन आईटीआर डिजाइन के अंतर्गत कार्ड मसौदा तैयार करना क्या डिजाइनिंग उत्पाद मॉडलिंग बनाना और अन्य घटक सभी प्रकार की मरम्मत और रखरखाव के तहत ऑटो सर्विसिंग और रखरखाव और तो डॉयलॉजिस्ट ऑटो मरम्मत आधुनिक प लंबिंग के अंतर्गत औद्योगिक प्लंबिंग पाइप लाइन रखरखाव और मरम्मत आदि इस पूरे प्रोग्राम में टाटा टेक प्रथम चरण में 60 आईटीआई के साथ प्राइमरी पार्टनर के रूप में भी कार्य करेगी जिसको देश के बड़े उद्योगों सहित विश्व की सभी नामचीन कंपनियों का सहयोग प्राप्त है इसलिए प्रोजेक्ट में एक विश्वसनीयता और वृहद अनुभव का समावेश रहेगा आईटीआई अपग्रेडेशन के तहत 881 सभी ग्लोबल औद्योगिक पार्टनर को साथ लाएगी प्रोजेक्ट के लिए एक बेसलाइन अध्ययन तैयार करेगी और फिजिकल इनवर्टर एवं उपलब्ध औद्योगिक परिवेश के आलोक में प्रचलित उद्योग को मूल्य के मूल्यांकन की आवश्यकता के रूप में तैयार करेगी अध्ययन पूर्ण होने के पश्चात लेआउट ड्राइंग तैयार किया जाएगा टाटा टेक सभी आईटीआई में अपनी पर्यवेक्षण में यह कार्य कराएगी तथा विभिन्न मशीनों का इंस्टॉलेशन भी किया जाएगा टाटा टेक आईटी हाईकोर्ट के साथ सहयोग करेगी और नए अपग्रेड टूल्स मशीनरी एवं पाठ्यक्रम बनाने में सहायता करेगी प्रथम चरण के लिए चयनित आईटीआई कोटा टू टेक 120 भी अपने एवं पार्टनर इंडस्ट्री के साथ मिलकर उपलब्ध कराएगी डाटाटेक नोडल सेंटर पर 20 प्रशिक्षित प्रशिक्षणओं को भी स्थापित करेगी इसके द्वारा विषय आधारित इंडस्ट्री एक्सपर्ट के माध्यम से नियमित एवं समय अवैध रूप से पर्यवेक्षण कराया जाएगा जिन छात्रों को इस कार्यक्रम के अंतर्गत प्रशिक्षण दिया जाएगा उन्हें रोजगार देने में चयनित पटना इंडस्ट्री द्वारा प्राथमिकता दी जाएगी योजना के प्रथम चरण को मार्च 2022 तक पूर्ण कर लिया जाएगा बैठक में श्रम संसाधन मंत्री श्री जीवेश कुमार मुख्य सचिव श्री दीपक कुमार मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री चंचल कुमार श्रम संसाधन विभाग के प्रधान सचिव श्री मिहिर कुमार सिंह मुख्यमंत्री के सचिव श्री मनीष कुमार वर्मा मुख्यमंत्री के सचिव श्री अनुपम कुमार मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी श्री गोपाल सिंह टाटा टेक्नोलॉजी के उपाध्यक्ष श्री सुशील कुमार ग्लोबल निर्देशक एजुकेशन पुष्कर राज कॉल गुड सहित अन्य पदाधिकारी उपलब्ध थे

Leave a Comment

73 + = 82