तमिलनाडु मामले में कोर्ट ने दी जमानत मनीष कश्यप को बड़ी राहत

 मनीष कश्यप को बड़ी राहत मिली है। शुक्रवार को मदुरई कोर्ट ने जमानत याचिका मंजूर कर ली है। इसके साथ ही इनके ऊपर जो NSA लगाया गया था उसे भी हटा लिया गया है। इस मामले में आज मदुरई कोर्ट ने फाइनल सुनवाई करते हुए यह फैसला सुनाया है। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने तमिलनाडु में प्रवासी मजदूरों के फर्जी वीडियो प्रसारित करने के आरोपी मनीष कश्यप की याचिका पर सुनवाई करते हुए उन्हें हाई कोर्ट जाने का निर्देश दिया था। हालांकि, मनीष कश्यप के वकील का कहना है कि शाम 5 बजे कोर्ट का लिखित आदेश आने के बाद ही कुछ कह सकेंगे।

दैनिक पंचांग

दरअसल, तमिलनाडु में बिहारी मजदूरों पर हमले का फर्जी वीडियो शेयर करने के मामले में आरोपी मनीष कश्यप अभी तमिलनाडु पुलिस की कस्टडी में थे। तमिलनाडु पुलिस की टीम कोर्ट से प्रोडक्शन वारंट लेकर उसे पटना से ले गई थी। यूट्यूबर मनीष को मदुरै कोर्ट ने 19 अप्रैल तक न्यायिक हिरासत में भेजा था। इससे पहले कोर्ट ने मनीष को पुलिस कस्टडी में भेजा था।
जिसके बाद इस मामले में यूट्यूबर की ओर से सुप्रीम कोर्ट में भी अर्जी दायर की गई थी , जिसमें अलग-अलग राज्यों में दर्ज एफआईआर को एक साथ क्लब करने की मांग की गई है। उसके बाद इस मामले में सुनवाई हुई और कोर्ट ने मामले को निचली अदालत में सुनवाई करने का आदेश दिया था।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लोहिया पथ चक्र जनता के नाम किया

मालूम हो कि, इससे पहले यूट्यूबर वीडियो में कहते नजर आ रहे हैं कि हम चारा चोर के बेटा नहीं हैं। किसी से डरने वाले नहीं हैं। मेरे दादा जी ने चीन से लड़ाई लड़ी है। मेरा बाप फौजी है। पाकिस्तान से युद्ध किए। हम फौजी का बेटा हैं। मर जाऊंगा, लेकिन झुकूंगा नहीं इनके आगे। मनीष ने राज्य सरकार पर भड़कते हुए कहा कि हमको जो है गंजेड़ी, नशेड़ी के बीच में बिठा दिया जाता है। वे लोग मुंह पर गांजा पीकर फूंक देते हैं।

 

Leave a Comment

+ 61 = 70