मुख्यमंत्री ने पटना एयरपोर्ट पर पत्रकारों से की बातचीत

पटना : मुख्यमंत्री  नीतीश कुमार आज दिल्ली से गया में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने के पश्चात् पटना पहुंचे। पटना एयरपोर्ट पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली में जिन लोगों से मुझे मिलना था. उन सभी लोगों से मुलाकात हुई है। श्री राहुल गांधी से भी बहुत अच्छी बातचीत हुई है श्रीमती सोनिया गांधी अभी देश से बाहर हैं, वे जब दिल्ली आ जाएंगी तो हम उनसे मिलने जाएंगे। कांग्रेस के अलावा सी०पी०आई० सी०पी०एम० सी०पी०आई०एम०एल० समेत अन्य पार्टियों के नेताओं से बात हुई है। एन०डी०ए० से अलग होने का हमने जब निर्णय लिया तो अनेक दलों के नेताओं ने फोन किया था। सभी लोगों से अच्छी बातचीत हुई है। सब लोगों को लग रहा है कि देश के विकास के लिए कोई काम नहीं हो रहा है सिर्फ सभी चीजों पर कब्जा किया जा रहा है। विभिन्न राज्यों में सभी लोग अगर एकजुट होंगे तो बहुत अच्छी स्थिति उत्पन्न होगी। सभी लोगों की यही फिलिंग है बिहार में जब हमलोग भाजपा से अलग हुये तो सात पार्टियां एक साथ हो गई और अब यहाँ विपक्ष में भाजपा अकेली पार्टी है श्रीमती ममता बनर्जी से फोन पर बात हुई है। आगे जब बातचीत होगी तो हम मिलने जाएंगे।

हरियाणा में आयोजित होने वाले कार्यक्रम में कांग्रेस नेता श्री राहुल गांधी, श्रीमती ममता बनर्जी, श्री अरविंद केजरीवाल के शामिल होने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह तय करना उनका काम है जो कार्यक्रम का आयोजन कर रहे हैं। हरियाणा का कार्यक्रम राजनीतिक नहीं है, वह अलग कार्यक्रम है उस कार्यक्रम में हमलोग पहले से जाते रहे हैं। पिछले दो सालों से कोरोना के दौर के कारण नहीं जा पाये थे। एक बार फिर से हम वहां जाएंगे। श्री राहुल गांधी की भारत जोड़ों यात्रा पर मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री राहुल गांधी अपनी पार्टी के काम में लगे हैं, यह खुशी की बात है वे अपने ढंग से काम कर रहे हैं। दिल्ली में हमारी बातचीत लोकसभा चुनाव को लेकर हुई है। लोकसभा चुनाव के पहले विभिन्न राज्यों में लोग एकजुट होंगे तो बहुत अच्छा नतीजा आएगा। यह बात सब लोगों के समझ में आ गई है, ये बहुत अच्छी बात है।

प्रधानमंत्री के चेहरे के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सब एकजुट होकर तय करेंगे कि प्रधानमंत्री का चेहरा कौन होगा। हम प्रधानमंत्री पद का चेहरा नहीं हैं। कांग्रेस नेता श्री राहुल गांधी में प्रधानमंत्री के गुण को लेकर पत्रकारों के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि एक साथ बैठकर यह सब तय किया जाएगा। कुछ महीने में सभी लोगों से बातचीत होने के बाद इसका नतीजा सामने आ जाएगा बनने वाले फ्रंट को लेकर कॉमन मिनिमम प्रोग्राम बनाने के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि एकजुट होकर जो भी फ्रंट बनेगा, वो देश एवं राज्यों के विकास के लिए प्रोग्राम तय करेगा। अभी जो लोग शासन में हैं, वे कोई काम नहीं कर रहे हैं। सबों को अलग-अलग करके फिर से राज करना चाहते हैं ये लोग देश के पुराने इतिहास को खत्म करना चाहते हैं। आजादी की लड़ाई से जिनको कोई मतलब नहीं था, वे

आज तरह-तरह की बातें कह रहे हैं। आजादी के 75 साल पूरे होने पर ये लोग क्या कर रहे

थे। इनको बापू का नाम लेना चाहिए था। भाजपा नेता श्री सुशील कुमार मोदी के बयान पर मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री सुशील मोदी को हम बराबर सलाह देते हैं कि उन्हें रोज मेरे खिलाफ बोलते रहना चाहिए। मेरे खिलाफ बोलते रहने से ही पार्टी में उनके लिए कोई गुंजाइश है। वे जितना मेरे खिलाफ बोलेंगे वो उनके लिए अच्छा है। भाजपा नेता श्री सुशील कुमार मोदी द्वारा दिए गये बयान कि पूरा देश मुख्यमंत्री घूम रहे हैं तो बिहार कौन संभालेगा, पर मुख्यमंत्री ने कहा कि ये सब नही बोलेंगे तो कोई पूछेगा ही नहीं बताइए बेचारे को उप मुख्यमंत्री भी नहीं बनाया इस बार जो उप मुख्यमंत्री थे, उनको भी लीडर नहीं बनाया। उनको भी मेरे खिलाफ खूब बोलना चाहिए ताकि खिलाफ बोलेंगे तो उनकी पार्टी के लोग खुश होंगे।

मेन फ्रंट में आने का सपना भूल जायें श्री नीतीश कुमार 2024 के चुनाव में पीएम पद के लिए कोई वैकेंसी नहीं है, बिहार भाजपा प्रदेश अध्यक्ष श्री संजय जायसवाल के इस बयान पर मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके बयान का कोई मतलब नहीं है अब ये कितने दिन अध्यक्ष रहेंगे लेकिन जितने दिन रहेंगे बोलते ही रहेंगे। वे कौन-कौन सी पार्टी में थे। वर्ष 2006-08 में वे किस पार्टी थे जब एक साथ थे तब भी वे बोलते रहते थे। हमलोग कह देते थे कि यह गलत बात है तब दिल्ली से लोग कहते थे कि उन्हें समझाया जा रहा है। श्रद्धेय अटल जी ने बहुत अच्छा काम किया। श्री लालकृष्ण अडवाणी जी पर इनलोगों ने ध्यान नहीं दिया। अब देख रहें है न कि सबकी क्या स्थिति है पब्लिसिटी पाने के लिए कुछ-कुछ लोग बोलते रहते हैं। पहले आप सब कितने इंडिपेंडेंट थे, अब कितना नियंत्रित किया गया है जब से हमलोगों को काम करने का मौका मिला है चाहे श्रद्धेय अटल जी के नेतृत्व में हमने काम किया, कितना अच्छा काम किया। श्रद्धेय अटल जी ने जो काम किया, उसके बारे में ये लोग क्यों नहीं बोलते हैं? सब लोग समझते हैं कि सब हम लोग कर रहे हैं। अन्य पार्टियों का जो राज था, उसमें भी काम हुआ, इसमें कौन सा काम हुआ? बिहार में हमलोग कितना काम किये जब सवाल है कि ये लोग पूरे देश को कहाँ पहुंचाना चाह रहे हैं? हमलोग तो बापू को मानने वाले लोग हैं। आप सभी को मालूम है कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण के नेतृत्व में कितना बड़ा आन्दोलन हुआ था। उसको कभी हमलोग भूल नहीं सकते हैं।

श्री तेजस्वी प्रसाद यादव के साथ आने से बिहार में जंगलराज आ गया है, विपक्ष के इस आरोप पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यहाँ कहाँ जंगलराज आ गया है। यहाँ पर यदि कोई घटना घट गई तो आप जरा बता दीजिये कि इस दुनिया में कोई देश या राज्य है जहाँ पर कोई झंझट आपस में नहीं करता है। बिहार में जंगलराज नहीं जनता राज चल रहा है। यहाँ जनता राज है, आप सभी निश्चिंत से रहिए। आप सब यंग हैं, याद कीजिये, हमलोग यंग एज में कितना संघर्ष किये हैं। इसे याद रखियेगा, हम आप से भी आग्रह करेंगे। ये लोग कुछ अलग सोच वाले हैं और हमलोग काम करने वाले हैं। समाज के हर तबके को एकजुट करना हमारा दायित्व है जो पीछे रह गया है उसे आगे बढ़ाना, राज्य एवं देश को भी आगे बढ़ाने के लिये हमलोग काम कर रहे हैं। जनसंख्या कम करने के लिए भी हर प्रकार से काम किया जा रहा है लड़कियों को शिक्षित किया जा रहा है। पहले बिहार का प्रजनन दर 4.3 था अब घटते घटते लड़कियों की पढ़ाई से 2.9 आ गया है अब उसी तरह से और नीचे करेंगे। हमलोग तो काम करते हैं लेकिन हमलोग के काम का कोई पब्लिसिटी नहीं होता है। पब्लिसिटी तो हमलोगों के खिलाफ होता है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का कोई विकल्प नही है. के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि समय आने पर सब पता चल जाएगा।

Leave a Comment

9 + 1 =