किसकी गलती की वजह से हुआ ओडिसा रेल हादसा

ओडिशा के बालासोर रेल हादसे के 36 घंटा पुरे हो गए हैं। इस रेल हादसे की वजह से अबतक 288 लोगों की मौत हो गयी है। ओडिशा का शायद ही कोई ऐसा हॉस्पिटल होगा जहां मरीजों की भीड़ नहीं होगी। इसी कड़ी में अब रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा है कि – ये हादसा इंटरलॉकिंग में बदलाव के चलते हुआ है। घटना में जिम्मेदार लोगों की पहचान भी कर ली गई है और जांच रिपोर्ट जल्द सामने आ जाएगी।

दरअसल, बालासोर में दर्दनाक ट्रेन हादसे के बाद रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव हादसे के बाद से ही घटनास्थल पर डटे हुए हैं। अब उन्होंने इस पुरे रेल मामले को लेकर सभी तरह की जानकारी साझा किया है। अश्विनी वैष्णव ने कहा है कि – कल (3 जून) पीएम नरेंद्र मोदी के दिए गए निर्देशों पर तेजी से काम चल रहा है। कल रात को एक ट्रैक काम लगभग पूरा हो गया। आज एक ट्रैक की पूरी मरम्मत करने की कोशिश रहेगी। सभी डिब्बों को हटा दिया गया है साथ ही शवों को निकाल लिया गया है। कार्य तेजी से चल रहा है और पूरी कोशिश है की बुधवार की सुबह तक सामान्य रूट चालू हो जाए।

बिहार के 5 खिलाड़ी का चयन एशियन चैंपियनशिप में

 

केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने आगे कहा कि रेलवे सुरक्षा आयुक्त ने मामले की जांच की है। हादसे के कारण का पता लग गया है और इसके लिए जिम्मेदार लोगों की पहचान भी कर ली गई ह। इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग में बदलाव के कारण यह दुर्घटना हुई है। रेल मंत्री ने कवच सिस्टम की गैरमौजूदगी को हादसे का कारण नहीं माना है। उन्होंने कहा कि एक्सीडेंट का इससे लेना-देना नहीं है।

बालासोर रेलवे हादसे की सीबीआई जांच — सवालों के घेरे में

 

रेल मंत्री ने हाफ तौर कहा कि बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने जो कहा वो नहीं, बल्कि हादसे की कोई और वजह रही थी। उन्होंने आगे कहा, ‘रेलवे सुरक्षा आयुक्त ने मामले की जांच की है। जांच रिपोर्ट आने दीजिए उसके बाद कोई एक्शन लिया जाएगा।अभी हमारा फोकस ट्रैक की बहाली पर है। वहीं केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, ‘जितनी जल्दी हो सके सामान्य स्थिति स्थापित करना हमारी जिम्मेदारी है। भारतीय रेलवे मुफ्त ट्रेनें चला रहा ह। मरने वालों की संख्या 270 को पार कर गई है। हम इसके लिए जिम्मेदार व्यक्तियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे।

Leave a Comment

15 − 11 =